Bhim Rao Ambedkar Quotes in Hindi For WhatsApp and Facebook

0

Bhim Rao Ambedkar Quotes in Hindi For WhatsApp and Facebook. Bhim Rao Ambedkar ek mahan insaan the, inhone Bharat ka Savindhan banae me mahatavpurna role nibhaya tha. Inka janam 14 April 1891 me Central Provinces (Ab Madhya Pradesh me hai) me hua tha aur jab ye 65 year ke huye to 6 December 1956 ko inki mritu ho gayi. Ambedkar ji peshe se Jurist, political leader, philosopher, anthropologist, historian, orator, economist, teacher, and editor bhi the. Bhim Rao Ambedkar ne 1st Law Minister of India, Chairman of the Constitution Drafting Committee, Bharat Ratna jaise achivement hasil kiya tha. Yha aap janenge Ambedkar ke Quotes Hindi me.

Bhim Rao Ambedkar Quotes in Hindi For WhatsApp and Facebook

  • एक महान आदमी एक प्रतिष्ठित आदमी से इस तरह से अलग होता है कि वह समाज का नौकर बनने को तैयार रहता है .
  • “हम आदि से अंत तक भारतीय है।
  • लोग और उनके धर्म सामाजिक मानकों द्वारा; सामजिक नैतिकता के आधार पर परखे जाने चाहिए . अगर धर्म को लोगो के भले के लिए आवशयक मान लिया जायेगा तो और किसी मानक का मतलब नहीं होगा .
  • सागर में मिलकर अपनी पहचान खो देने वाली पानी की एक बूँद के विपरीत , इंसान जिस समाज में रहता है वहां अपनी पहचान नहीं खोता । इंसान का जीवन स्वतंत्र है । वो सिर्फ समाज के विकास के लिए नहीं पैदा हुआ है , बल्कि स्वयं के विकास के लिए पैदा हुआ है ।
  • पति- पत्नी के बीच का सम्बन्ध घनिष्ट मित्रों के सम्बन्ध के सामान होना चाहिए ।
  • बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए
  • “जीवन लम्बा होने की बजाये महान होना चाहिए ।”
  • हर  व्यक्ति  जो  मिल  के  सिद्धांत  कि  एक  देश  दूसरे  देश  पर  शाशन  नहीं  कर  सकता  को  दोहराता  है  उसे  ये  भी स्वीकार  करना  चाहिए  कि  एक  वर्ग  दूसरे  वर्ग  पर  शाशन  नहीं  कर  सकता .
  • “हिंदू धर्म मेंविवेककारणऔर स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।
  • एक  सफल  क्रांति  के लिए  सिर्फ  असंतोष  का  होना  पर्याप्त  नहीं  है .जिसकी  आवश्यकता   है  वो  है  न्याय  एवं   राजनीतिक  और  सामाजिक  अधिकारों  में  गहरी  आस्था.
  • “बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।
  • मैं  ऐसे  धर्म  को  मानता  हूँ  जो  स्वतंत्रता , समानता , और  भाई -चारा  सीखाये
  • “मनुष्य एवम उसके धर्म को समाज के द्वारा  नैतिकता  के  आधार  पर चयन करना चाहिये |अगर  धर्म  को  ही मनुष्य के लिए सब कुछ मान लिया जायेगा तो किन्ही और मानको का कोई मूल्य नहीं रह जायेगा |” 
  • एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना ही काफी नहीं हैबल्कि इसके लिए न्यायराजनीतिक और सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था का होना भी बहुत आवश्यक है।
  • मैं  किसी  समुदाय  की  प्रगति  महिलाओं  ने  जो  प्रगति  हांसिल  की  है  उससे  मापता  हूँ .
  • किसी भी कौम का विकास उस कौम की महिलाओं के विकास से मापा जाता हैं |
  • एक  महान व्यक्ति एक  प्रख्यात व्यक्ति से एक ही बिंदु पर भिन्न हैं कि महान व्यक्ति समाज का सेवक बनने के लिए तत्पर रहता हैं।
  • क़ानून  और  व्यवस्था  राजनीतिक  शरीर  की  दवा  है  और  जब  राजनीतिक  शरीर  बीमार  पड़े  तो  दवा  ज़रूर  दी  जानी  चाहिए
  • मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रतासमानताऔर भाई-चारा सीखाये.
  • जीवन  लम्बा  होने  की  बजाये  महान  होना  चाहिए .
  • यदि  हम  एक   संयुक्त  एकीकृत  आधुनिक  भारत  चाहते  हैं  तो  सभी  धर्मों  के  शाश्त्रों  की  संप्रभुता  का  अंत  होना  चाहिए .

Bhim Rao Ambedkar Quotes in Hindi For WhatsApp and Facebook apko kaisa laga comment karke jarur bataye.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

CommentLuv badge